join party
Donate
supporter
volunteer
share
मेवात से शुरू होगी राजनीतिक बदलाव की बयार



सभापा प्रत्याशियों के समर्थन में जनसभाओं का आयोजन
गुड़गांव की तर्ज पर होगा मेवात का विकास
नया चुने, सही चुने यात्रा के पहले चरण का मेवात में समापन
सभी सरकारों ने मेवात वासियों के हितों की अनदेखी की

नूंह। समस्त भारतीय पार्टी के अध्यक्ष सुदेश अग्रवाल ने कहा है कि अब तक हरियाणा में सत्ता संभालने वाली तमाम सरकारें मेवात के नाम पर केवल अपने ह ितों की पूर्ति की है। किसी भी सरकार ने मेवात वासियों का जीवन स्तर उंचा उठाने की दिशा में काम नहीं किया। 
सुदेश अग्रवाल आज यहां पार्टी प्रत्याशी मोहम्मद इसराइल डढवाल के समर्थन में आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे। सभापा ने (नया चुने, सही चुने) नामक राज्य स्तरीय यात्रा शुरू की है। इस यात्रा के प्रथम चरण का आज मेवात में समापन हो गया। यात्रा के दौरान लोगों से व्यक्तिगत संपर्क करते हुए उन्हें प्रदेश के मौजूदा राजनीतिक हालातों के बारे में बताकर भविष्य के प्रति सचेत किया जा रहा है। सभापा अध्यक्ष ने क्षेत्र वासियों से स्वार्थी, भ्रष्टाचारी, अपराधी व अकुशल व्यक्तियों को बाहर करके प्रदेश की राजनीति को नई दिशा प्रदान करने की अपील की है।
उन्होंने कहा कि हरियाणा में अब तक सत्ता संभालने वाली किसी भी सरकार की यह सोच नहीं रही है कि मेवात का भी विकास किया जाए। अब तक सत्ता में आए राजनीतिक दलों ने मेवात के लोगों को गुमराह करके राजनीतिक रूप से इस्तेमाल किया है। इस चुनाव में मेवात के लोग राजनीतिक बदलाव का मन बना चुके हैं। इस बार हरियाणा की राजनीति में बदलाव की बयार मेवात की धरती से शुरू होगी।
सुदेश अग्रवाल ने कहा कि हरियाणा में सभापा की सरकार के सत्ता में आते ही मेवात का विकास गुड़गांव की तर्ज पर किया जाएगा। एक तरफ विकास के क्षेत्र में गुड़गांव पूरे विश्व में अपनी पहचान बना चुका है। वहीं इससे सटा मेवात आज भी पिछड़ेपन का शिकार है।
इस अवसर पर बोलते हुए पार्टी प्रत्याशी मोहम्मद इसराइल डढवाल ने कहा कि आज हरियाणा की राजनीति में व्यवस्था परिवर्तन की जरूरत है। सुदेश अग्रवाल के नेतृत्व में सभापा का जनाधार लगातार बढ़ता जा रहा है। इस चुनाव में जनता ने समस्त भारतीय पार्टी को राजनीतिक विकल्प के रूप में स्वीकार कर लिया है। इस अवसर पर पार्टी सचिव अनवर खुर्शीद, असरूद्दीन, कायम सरपंच, रफीक अहमद, सूबेदार बीर मोहम्मद, लख्मीचंद, बाबूराम समेत कई नेता मौजूद थे।

Back