join party
Donate
supporter
volunteer
share
हुड्डा जी पब्लिक को मूर्ख बनाना बंद करें...



हुड्डा सरकार की इस बात की दाद देनी होगी कि भले ही प्रदेश के विकास में वह नंबर 1 न रही हो, लेकिन प्रचार में जरूर नंबर 1 बन गयी है। खबर है कि कुर्सी जाने के भय से बौखलायी हुड्डा सरकार ने अपने प्रचार पर लगभग 100 करोड रूपए स्‍वाहा कर दिए हैं। 

प्रदेश की पब्लिक हुड्डा जी से पूछना चाहती है कि ये 100 करोड रूपए क्‍या उन्‍होंने अपने नीजि खजाने से ख र्च किए हैं। अगर नहीं, तो जनता की भलाई का पैसा अपने प्रचार में क्‍यों और किसकी इजाजत से लगा दिया गया। क्‍या जनता ने उन्‍हें इसी गोलमाल के लिए चुनकर सत्‍ता सौंपी थी। 

गौरतलब है कि पंचकुला में एक सज्‍जन द्वारा कोर्ट में जनहित याचिका दायर कर जब हुड्डा सरकार के इस प्रचार अभियान पर पानी की तरह बहाए जा रहे जनता के पैसे की बाबत सवाल उठाया गया, तो हुड्डा जी ने जनता को मुर्ख बनाने के लिए विज्ञापन को एडिट करवा दिया। पहले जहां विज्ञापन में ढोल पीटा जा रहा था -'हुड्डा जी का हरियाणा' अब इस लाइन को यक ब यक गायब कर दिया गया। 
हुड्डा जी, पब्लिक मूर्ख नहीं है। यह सब जानती है। सारे गोरखधंधे पहचानती है। जनता मांग करती है कि सरकारी पैसे की इस बर्बादी की क्षतिपूर्ति हुड्डा जी नीजि स्रोतों से करे।

Back