join party
Donate
supporter
volunteer
share
तीन दर्जन परिवारों ने थामा सभापा का दामन

नेता और जनता के बीच की खाई भरने आई हूँ :- नीलम अग्रवाल
तीन दर्जन परिवारों ने थामा सभापा का दामन
भिवानी, 2 जून :- समस्त भारतीय पार्टी की प्रदेश अध्यक्ष एंव भिवानी विधानसभा प्रत्याशी श्रीमती नीलम अग्रवाल ने अपने ग्रामीण जनसम्पर्क अभियान के दौरान गांव गौरीपुर का दौरा कर ग्रामीणों से मुलाकात की और उनकी समस्याओं को सुना। दौरे के दौरान सभापा प्रदेश अध्यक्ष की मौजूदगी में गांव के करीब तीन दर्जन परिवार ों ने सभापा का दामन थामा और श्रीमती नीलम अग्रवाल के समर्थन की घोषणा की। ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए श्रीमती अग्रवाल ने कहा कि आज जनप्रतिनिधियों ने अपने आप को जनता और उनकी समस्याओं से दूर कर लिया है। केवल चुनावों के दौरान ही नेतागण जनता के बीच में आते हैं। समस्त भारतीय पार्टी का मानना है कि जनता पांच सालों के लिए अपना नुमाईदा चुनती है और चुने हुए नेता का ये फर्ज बनता है कि वो जनता की समस्याओं के समाधान के लिए लगातार पांच सालों तक काम करें। आज के नेता ऐसा न करके अपने और जनता के बीच एक खाई बना लेते हैं। श्रीमती अग्रवाल ने कहा कि वो नेता और जनता के बीच बनी हुई खाई को भरने के लिए आई हैं। उन्होंने ग्रामीणों को विश्वास दिलाया कि जो समर्थन और सम्मान ग्रामवासियों ने उन्हें दिया है वे समय आने पर लोगों के काम करके अपना फर्ज अदा करेंगी। दौरे के दौरान श्रीमती अग्रवाल ने बुजुर्गो का आर्शीवाद लिया और महिलाओं को राजनीति में सक्रिय भूमिका निभाने के लिए प्रेरित किया। गांव की गलियों और नालियों के हालात देखकर श्रीमती अग्रवाल ने जनप्रतिनिधियों पर करारा प्रहार करते हुए कहा कि जनता नेताओं को कुर्सी देती है अगर वो नेता लोगों को स्वस्थ माहौल नहीं दे सकते तो ऐसे लोगों को कुर्सी पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है। इस अवसर पर प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य महेन्द्र गोदारा, जिला संयोजक सुरेन्द्र सिंगला, भिवानी विधानसभा प्रभारी अरूण शर्मा, शहरी प्रधान राजेन्द्र आर्य, गौतम स्वामी, पूर्व सरपंच गुलजारी लाल शर्मा, सुरेश कुमार, पवन, पुष्‍कर शर्मा, रामबीर, संदीप, चंद्र, रामकुमार, भूपसिंह, महेन्द्र सिंह, धरमपाल, रघुवीर, करतार सिंह, ज्ञानवीर, धारासिंह, कृष्‍ण अभिषेक, राजपती, सुनीता, छोटो, मुकेश,केला देवी, शीला, सन्तोष, सुमित्रा, ओमपती, भवानी, कृष्णा, समीत, तारावती, सुमन, अशोक, विकास, कश्मीर, दलबीर इत्यादि मुख्य रूप से उपस्थित थे।

Back